Home Blog Mob-Lynching efforts in Gujarat on 15.Aug, 2017
0

Mob-Lynching efforts in Gujarat on 15.Aug, 2017

Here we have another incident that shows how much the living conditions of Dalits has deteriorated in Guraj. On 15th August 2017, while the Hon’ble Prime Minister was displaying patriotism and was claiming that there is no atmosphere of violence in the country, the same day in the Banaskantha district of North Gujarat, Dalits were beating in every corner. With a pre-planned conspiracy a 18-year-old Dalit youth Kiran Parmar of Dalwana village of Badjam Tahasil in Banaskantha District was kidnapped and murdered only because he helped to lovers from OBC community to get married. A goon from Vadodara Nayan Rubari got a message and Nayan Rubari killed Kiran. After meeting Kiran’s family, we reached Palanpur civil hospital and came to know that the task of hoisting the national flag on 15th August at the K.B. Agarwal High School function was given to a Dalit student-Mayur Vaghela by the school. Due to the jealousy that how come such an honor of hoisting the national flag was being given to dalit students, Manoj Thakore, Kuldeep Thakore and Suresh Thakor, who were considered as BJP workers attacked him and tried to lynch him. While they beat him they verbally attacked with “arre dalit, how did you get such audacity”, also used abused his mother and sisters and casteist abuses. Until today only one of the accused has been arrested.

The responsibility of spreading this video to the whole of the country is that of us all who stand for justice. All the accused should be arrested in the next 48 hours on every price, otherwise there will be protests in Palanpur as decided.

गुजरात मे दलितो का जीना किस हद तक हराम हो गया है उसका औऱ एक दाखिला मिला। 15 ऑगस्ट के दिन माननीय प्रधानमंत्री जी देश भक्ति डिसप्ले करते हुए जब यह दावा कर रहे थे की देश में हिंसा का माहौल नही , उसी दिन उत्तर गुजरात के बनासकांठा जिले में हर कोने में दलितो की जमकर पिटाई हो रही थी। बनासकांठा जिले के बडगाम तहसील के दालवाना गांव के 18 साल के दलित युवक किरन परमार की किडनीपिंग करके एक पूर्व आयोजत साजिश के चलते सिर्फ इसलिए हत्या कर दी गई कि उसने ओबीसी समुदाय के एक प्रेमी जोड़े की शादी करवाने में मदद की ऐसा वडोदरा शहर के एक गुंडे – नयन रबारी को मैसेज मिला और नयन रबारी ने किरण की हत्या कर दी। किरण के परिवार को मिलने के बाद हम कूछ साथी पालनपुर सिविल अस्पताल पहुँचे तब पता चला कि 15 ऑगस्ट के दिन के.बी अग्रवाल हाई स्कूल में तिरंगा लहराने का काम दलित स्टूडेंट – मयूर वाघेला को स्कूल की ओर से सौंपा गया, लेकिन एक दलित को यह मौका कैसे मिला सिर्फ इस बात की इर्ष्या और जलन के चलते बीजेपी के कार्यकर्ता माने जाते मनोज ठाकोर, कुलदीप ठाकोर और सुरेश ठाकोर ने टोला ले जाकर “साले दलित तुम्हारी यह हिम्मत कैसे हुए” ऐसा कहते मा-बेन की गलिया देकर, जातिवादी शब्दो से अपमानित करते हुए उस के लीनचिंग की कोशिस की। आज भी केवल एक आरोपी की ही गीरफ्तारी हुई है।
इस विडियो को पूरे देश मे फैलाने की जिम्मेवारी हम सभी न्याय प्रिय लोगो की है। हर कीमत पे अगले 48 घंटो में बाकी के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी होनी चाहिए, वरना पालनपुर में चक्काजाम होंगा यह भी तय है।

Jignesh Mevani, is a social activist and lawyer. He is the convenor of Rashtriya Dalit Adhikar Manch.

Video: Jignesh Mevani , Translation: Archana Bidargaddi (English),